मोहम्मद युसूफ ने ऐसा क्या कहा विराट कोहली के बारे मे

0
279
virat-yusuf

विराट कोहली का शुमार आज के दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों में किया जाता हैं। क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कोहली का बल्लेबाज़ी औसत 50 के पार है। यह कोहली के बल्ल…

विराट कोहली का शुमार आज के दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों में किया जाता हैं। क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कोहली का बल्लेबाज़ी औसत 50 के पार है। यह कोहली के बल्लेबाज़ी स्तर को बयां करने के लिए काफी है। क्रिकेट के कुछ जानकारों का तो यहाँ तक कहना है कि अगर कोहली इसी तरह की बल्लेबाज़ी करते रहे तो वो सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गजों को भी पीछे छोड़ सकते हैं। लेकिन पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी मोहम्मद युसूफ इस बात को नहीं मानते। उनके मुताबिक़ कोहली का स्तर सचिन और द्रविड़ जैसा नहीं है। जियो टीवी को दिए एक इंटरव्यू में मोहम्मद युसूफ ने कोहली के बारे में बात करते हुए कहा “आजकल के दिन के क्रिकेट का स्तर अतीत के स्तर की बराबरी नहीं कर सकता। विराट कोहली काफी अच्छे बल्लेबाज हैं और मुझे उन्हें खेलते हुए देखना पसंद है लेकिन मुझे नहीं लगता कि वह तेंदुलकर, द्रविड़ या लक्ष्मण के स्तर के हैं।”

उन्होंने आगे कहा “कुछ लोग शायद सहमत नहीं हों लेकिन मुझे नहीं लगता कि आज के समय में उस स्तर के गेंदबाज या बल्लेबाज हैं जो तब थे जब मैं खेलता था। ऑस्ट्रेलिया के मौजूदा गेंदबाजी आक्रमण को देखो, उनके पास ग्लेन मैकग्रा या शेन वॉर्न की बराबरी का कोई नहीं है। भारत के पास अनिल कुंबले, श्रीनाथ और कुछ काफी अच्छे गेंदबाज थे। दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज का गेंदबाजी आक्रमण भी मजबूत था जबकि श्रीलंका मुथैया मुरलीधरन पर काफी निर्भर था।”

Virat-yusuf-Sachin
मोहम्मद युसूफ के मुताबिक विराट कोहली का स्तर तेंदुलकर और द्रविड़ जैसा नहीं।

आपको बता दें मोहम्मद युसूफ ने पाकिस्तान की तरफ से 288 वनडे मैचों में शिरकत करते हुए 41.71 की बल्लेबाज़ी औसत के साथ 15 शतक और 64 अर्द्धशतक के साथ 9720 रन बनाए। वहीं 90 टेस्ट मैचों में उन्होंने 24 शतक और 33 अर्द्धशतक सहित 52.29 की बल्लेबाज़ी औसत से 7530 रन मुकम्मल किए। उन्होंने पाकिस्तान के लिए 3 टी-20 मैच भी खेले हैं।

यूसुफ ने आगे कहा, “बल्लेबाजों के लिए स्थिति आसान करने के लिए नियमों में भी बदलाव किया गया जबकि आजकल पिचें भी बल्लेबाजी के अधिक अनुकूल हो गई हैं। जिस युग में मैं खेलता था तब आपको ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, दक्षिण अफ्रीका में अलग-अलग तरह की पिचों का सामना करना पड़ता था। आजकल हर जगह पिचें लगभग एक जैसी हैं।” यूसुफ ने बताया कि यही वजह है कि वह तेंदुलकर या द्रविड़ को मौजूदा भारतीय बल्लेबाजों से अलग स्तर का मानते हैं।
कोहली के आक्रामक रवैये के बारे में बात करते हुए युसूफ ने कहा, “यहां तक कि अतीत की भारतीय टीम और खिलाड़ी भी आक्रामक थे। सौरव गांगुली इसका उदाहरण हैं। जब हम उनसे खेलते थे तो हमारे खिलाड़ियों का उत्साह भी बढ़ा हुआ होता था लेकिन अंत में हम विरोधी के अच्छे प्रदर्शन की भी हमेशा तारीफ करते थे क्योंकि क्रिकेट का स्तर काफी ऊंचा था।”

आज के दौर में विराट कोहली के बल्ले से जिस तरह से रन निकल रहे हैं उसको देखते हुए इस बात पर किसी को कोई शक नहीं होगा कि वो इस समय विश्व के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं। यही वजह है कि क्रिकेट के जानकार अब उनकी तुलना महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर से भी करने लगे है। लेकिन सवाल उठता है कि यह तुलना किस हद तक सही है? कहीं यह तुलना करना जल्दबाजी तो नहीं ? ख़ैर, इस बात का जवाब तो आने वाला वक़्त ही देगा कि बतौर बल्लेबाज़ विराट कोहली में कामयाबी की किन बुलंदियों को छूने की क़ाबलियत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here