चीन की बर्बादी का सामान लेकर बॉर्डर पहुचे रतन टाटा, बोले – चीन को नक्शे से मिटा दूंगा

हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के दौरान भारत में एफ-16 फाइटर प्लेन को लेकर जो डील हुई थी, उसे भी टाटा ही पूरा करेगी।

0
694
India and China Tension

भारत में रक्षा प्रौद्योगिकी के विकास में देश के दो बड़े बिजनेस टायकून्स मैदान में उतर चुके हैं। जहां एक ओर मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस डिफेंस मिसाइल निर्माण में इजराइली कंपनी राफेल के साथ मिलकर मिसाइलों के निर्माण में जुटे हैं, वहीं रक्षा क्षेत्र में पुरानी कंपनी टाटा अब हेलीकॉप्टर और विमान बनाने में जुटी हुई है। हाल ही में अमेरिका के साथ एफ-16 फाइटर प्लेन के भारत में निर्माण को लेकर डील हुई थी। एफ-16 बनाने वाली कंपनी भारत में टाटा के साथ मिलकर इस महाविनाशक फाइटर जेट का निर्माण करेगी।

India and China Tension
Ratan Tata
आपको बता दें कि बिजनेस टाइकून रतन टाटा के चेयरमैन रहते हुए टाटा ने भारतीय सेना के लिए मजबूत और टिकाऊ वाहनों के अलावा एंटी लैंडमाइन व्हीकल भी तैयार किए हैं, जो सालों से सेना में कार्यरत हैं। अमेरिका की कंपनी बोइंग के साथ चिनूक हेलीकॉप्टर और अपाचे हेलीकॉप्टर की जो डील साइन हुई थी, टाटा उसको मूर्त रूप दे रही है।

India and China Tension

पिछले दिनों बोइंग ने चिनूक हेलीकॉप्टर के पार्ट्स सप्लाई किए थे, जिसके बाद इन दिनों टाटा की फैक्ट्री में इस विशालकाय हेलीकॉप्टर की असेंबलिंग की जा रही है। वहीं अपाचे हेलीकॉप्टर के पार्ट्स भी भारत आने शुरू हो गए हैं। टाटा की फैक्ट्री में अपाचे हेलीकॉप्टर का ढांचा तैयार किया जा रहा है।

India China Tension

रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार, आने वाले कुछ सालों में भारतीय वायुसेना को ये दोनों विनाशकारी हेलीकॉप्टर मिल जाएंगे। वहीं हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के दौरान भारत में एफ-16 फाइटर प्लेन को लेकर जो डील हुई थी, उसे भी टाटा ही पूरा करेगी।

India and China Tension

टाटा ने इसके लिए अपनी फैक्ट्रियों में बदलाव शुरू कर दिए हैं। आने वाले कुछ महीनों में एफ-16 का निर्माण करने वाली कंपनी लॉकहिड मार्टिन के अधिकारी फैक्ट्री का जायजा लेंगे। उसके बाद भारत में एफ-16 विमानों का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा।

India and China Tension

आपको बता दें कि टाटा कंपनी भारत के रक्षा क्षेत्र में बहुत पहले से कार्यरत है। टाटा इस वक्त सेना के लिए उन्नत श्रेणी की तोप का निर्माण भी कर रहा है। साथ ही सेना के काफिले के लिए तेज और मजबूत ट्रक के अलावा एंटी लैंडमाइन व्हीकल भी तैयार कर रहा है। बोइंग के साथ हुए सौदे के बाद से हैदराबाद के पास टाटा की एक फैक्ट्री में उन्नत श्रेणी का युद्धक लड़ाकू हेलीकॉप्टर अपाचे का निर्माण किया जा रहा है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here