लो शुरू हो गई UP में आज से किसानों की कर्जमाफी, बांटे गए प्रमाण पत्र

0
201
Yogi_Adityanath

यूपी में योगी सरकार बनने के बाद से ही कर्जमाफी का इंतजार कर रहे किसानों का सपना अब साकार होने जा रहा है। योगी सरकार लघु-सीमांत किसानों के लिए ‘फसल ऋण मोचन योजना’ की शुरुआत लखनऊ से शुरू की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ स‌िंह और सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया। राजनाथ स‌िंह ने कहा, लोग कहते थे क‌ि चुनाव में कर्जमाफी का वादा कर द‌िया गया लेक‌िन पूरा नहीं हुआ। हमने अपनी कथनी और करनी में कोई अंतर नहीं आने द‌िया। राजनाथ ने कहा क‌ि 100 द‌िन के अंदर कर्जमाफ करना बड़ी बात है।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि चुनाव के दौरान वादा किया था कि सीमान्त किसानों का फसली कर्ज माफ किया जाएगा। यूपी की योगी सरकार ने अपनी करनी और कथनी में फर्क नहीं रखा और वादा पूरा किया। उन्होंने कहा कि 100 दिन में छोटा-मोटा नहीं कर्ज माफी करके बड़ा काम किया है।

उत्तर प्रदेश में फसल ऋण मोचन योजना कार्यक्रम में राजनाथ सिंह गुरुवार को यहां लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, भारत छोड़ो आंदोलन में सबसे बड़ा योगदान किसानों का है। भारत छोड़ो आंदोलन का बीज चंपारण में बोया गया था। इसमें किसानों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया था। उन्होंने कहा, किसानों को यूरिया के लिए लाइन में लगना पड़ता था। हम किसानों को लाइन में खड़ा नहीं देखना चाहते, इसीलिए अब ऐसा नहीं है। यही नहीं मोदी सरकार में खाद की कीमत में भी कमी आई है।

मंडियों को पोर्टल से जोड़ा 
उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ ज़्यादा से ज़्यादा किसान लाभ उठा रहे हैं। कम प्रीमियम और अधिक बीमा योजना की व्यवस्था प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में की गई है। केंद्र सरकार ने नई योजना शुरू की है और मंडियों को पोर्टल से जोड़ा है। इससे किसान उचित कीमत में अपनी उपज बेच सकेंगे और अधिक लाभ उठा सकते हैं। किसानों को उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिए आढ़तियों और दलालों को हटाकर 37 लाख मीट्रिक टन गेहूं की 1625 रुपये प्रति कुंतल की दर से खरीद कराई। आलू का दाम सही मिले इसके लिए मंडी शुल्क खत्म किया गया। एक्सपोर्ट के लिए प्रोत्साहन राशि भी देंगे। धान की खरीद में समर्थन मूल्य के अलावा प्रति कुंतल 15 रुपया अतिरिक्त  देंगे। केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि पिछले 15 वर्षों में शासन की योजनाओं को तुष्टीकरण के तहत लागू किया गया।

CM योगी बोले, पिछली सरकारों के एजेंडे में किसान नहीं था
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री ने 2022 तक देश के किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। पिछली सरकारों के एजेंडे में किसान नहीं रहा। इसीलिए किसान कर्ज में डूब गया। इसीलिए हमने इसे पहली कैबिनेट में पास किया और 36 हज़ार करोड़ रुपये के ऋण माफ किये।

किसान की जमीन हड़पने वालों को भेजेंगे जेल
उन्होंने कहा, सरकार किसानों पर कोई अहसान नहीं कर रही बल्कि ये उसका अधिकार है। मोदी सरकार के आने के बाद बीज-खाद की किल्लत नहीं है। 86 लाख किसानों का वेरिफिकेशन जारी है। 70 लाख किसानों का वेरिफिकेशन और आधार से लिंक का काम पूरा हो गया है। राजस्व खातों को आधार से लिंक करेंगे ताकि कोई धोखाधड़ी न हो। जो भी किसान की जमीन को हड़पने की कोशिश करेगा वो जेल भेजा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here