बैंकों में हड़ताल: 22 अगस्त को बैंक सुधार के विरोध में 10 लाख बैंककर्मी हड़ताल पर

0
156
Bank_strike_on_August_22

22 अगस्त को देशभर के करीब 10 लाख बैंक कर्मी हड़ताल पर रहेंगे। बैंक कर्मियों ने बैंकिंग सेक्टर में सुधार के विरोध में हड़ताल पर जाने का विरोध किया है। इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (आईबीए), चीफ लेबर कमिश्नर और डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियन सर्विस (डीएफएस) और यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन (यूएफबीयू) के बीच शुक्रवार को बातचीत असफल होने के बाद 22 अगस्त को हड़ताल पर जाने का फैसला किया गया है।

यूएफबीयू, भारतीय बैंकिंग सेक्टर के नौ यूनियनों की मुख्य शाखा है। यूएफबीयू ने 22 अगस्त को देशव्यानी हड़ताल का फैसला किया है। बैंकिंग सेक्टर में सुधार और दूसरे मुद्दों की वजह से यह हड़ताल हो रही है। ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कनफेडरेशन डी थॉमस फ्रैंको राजेंद्र देव जो कि इसके जनरल सेक्रेटरी हैं उनकी ओर से बताया गया है कि आईबीए और डीएफएस ने कहा है कि सरकारी बैंकों का विलय नहीं हो रहा है या फिर आने वाले वाले समय में उनका निजीकरण नहीं होगा, इसके साथ ही उनकी ओर से हड़ताल को वापस लेने की अपील की गई। उन्होंने बताया है कि करीब 10 लाख बैंक कर्मी जो कि देशभर में करीब 132,000 शाखाओं में काम कर रहे हैं, वह 22 अगस्त को हड़ताल पर रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here