बैंक में 50,000 से ज्यादा के लेन-देन पर करना होगा इन नए नियमों का पालन

0
229
money

देश में मनी लॉन्ड्रिंग और कालेधन पर अंकुश लगाने के लिए एक बड़ा बदलाव किया गया है। दरअसल, अब बैंक से ज्यादा कैश निकालने के लिए सरकार की ओर से नियम बदल दिए गए हैं। अब पैसे निकालने के लिए बैंक जाते वक्त आपको अब कुछ जरूर डॉक्यूमेंट भी दिखाने होंगे। अब अगर कोई व्यक्ति बैंक या किसी वित्तीय संस्थान से ज्यादा कैश का लेनदेन करता है तो अब उसे बायोमेट्रिक पहचान नंबर, आधार और अन्य ऑरिजनल ऑफिशियल डॉक्यूमेंट्स लेना जरूरी है।
नियमों के अनुसार यदि किसी व्यक्ति के ट्रांजेक्शन करने के दौरान बैंक के पास उसके डॉक्यूमेंट हैं, तो वह उसके ऑरिजनल डॉक्यूमेंट्स से मिलान करने के साथ -साथ एक नई कॉपी पर ट्रांजेक्शन के रिकॉर्ड को दर्ज करना होगा।

50 हजार से ज्यादा का ट्रांजेक्शन करने पर संस्थान की ये होगी जिम्मेदारी-

यदि कोई ग्राहक बैंक या वित्तीय संस्थान से 50 हजार से ज्यादा का ट्रांजेक्शन करता है तो संस्था की जिम्मेदारी है कि ग्राहक की पहचान स्थापित करे। इसके साथ ही संस्था को ग्राहक द्वारा दिए गए पहचान पत्र का सत्यापन करना जरूरी है। बैंक को ग्राहक से ये भी जानना होगा कि वे इतना ट्रांजेक्शन क्यों कर रहे हैं। यानि की ट्रांजेक्शन की वजह बताए बिना संस्था आपको ट्रांजेक्शन करने की अनुमति नहीं देगा। अब तक अन्य व्यक्ति के साथ ट्रांजेक्शन करने पर उसके साथ रिलेशन बताने का कोई नियम नहीं था, लेकिन अब जिस व्यक्ति के साथ ग्राहक ट्रांजेक्शन कर रहा है, उसके साथ रिलेशन बताना जरूरी होगा। बैंकों या संस्थान को ये जानने का पूरा अधिकार होगा। बता दें कि केवल वित्तीय संस्थान ही नहीं बल्कि सटॉक ब्रोकर, चिट फंड, हाउजिंग फाइनेंस कंपनी, को ऑपरेटिव बैंक को भी ये काम करने होंगे।

बैंक अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक अभी सभी बैंकों ने ये नियम नहीं अपनाया है, केवल देहरादून में कुछ बैंक इन नियमों का पालन कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here