स्मार्टफोन यूज करने के मामले में भारत दुनिया में नंबर 2 पर

0
216
smartphone

भारत में स्मार्टफोन यूज करने वालो की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे में ग्राहकों को लुभाने के लिए हर टेलीकॉम कंपनी आए दिन सस्ते 4जी फोन लांच कर रही है, जिसके कारण स्मार्टफोन मार्केट तेजी से बढ़ रहा है और इसी का असर है कि अब स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने के मामले में भारत नंबर 2 पर आ पहुंचा है। चीन अब भी नंबर 1 पर है। जानकारों के अनुसार सस्ते हैंडसेट और 4जी की बदौलत भारत का स्मार्टफोन मार्केट बढ़ा है। दरअसल, 2017 के थर्ड शिपमेंट में 23 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

कैनालिस एनालिस्ट की जारी हुई रिपोर्ट के अनुसार 2017 में भारत में 4 करोड़ हैंडसेट का बिजनेस हुआ है। रिसर्च एनालिस्ट ईशान दत्ता ने कहा है कि इन समय भारत स्मार्टफोन का बहुत बड़ा मार्केट बन गया है। बात अगर मोबाइल ब्रांड की करें तो यहां आज 100 से ज्यादा मोबाइल ब्रांड बिजनेस कर रहे हैं। कुछ समय पहले जो इंडियन मार्केट की कैपिसिटी को लेकर चिंता थी, अब वो भी दूर हो गई है। भारत में इस बिजनेस को लेकर किसी तरह की चिंता नहीं है, इसलिए ये बिजनेस हमेशा बढ़ता ही रहेगा। सस्ते स्मार्टफोन और एलटीई ने मार्केट को बूस्ट किया है।

 

बता दें कि चीन में 71.1 करोड़ स्मार्टफोन यूजर्स हैं, वहीं भारत में 30 करोड़ यूजर्स हैं। स्मार्टफोन यूजर्स के मामले में अमेरिका तीसरे नंबर पर है। यहां 24.8 करोड़ स्मार्टफोन यूजर्स हैं।

टॉप फाइव कंपनियों का कब्जा है मार्केट पर-

वर्तमान में 50 प्रतिशत मार्केट पर दुनिया की दो मोबाइल कंपनियों ने इस पर कब्जा कर रखा है, वहीं 75 प्रतिशत मार्केट पर पांच टॉप मोबाइल कंपनियों का वर्चस्व जारी है। इनमें सैमसंग, शियोमी, वीवो, ओप्पो और लैनेवो शामिल है।

शियोमी बन सकती है नंबर वन-

हमेशा से सैमसंग और शियोमी के बीच कड़ी टक्कर रही है। सस्ते फोन लांच करके यूजर्स के बीच अपनी पहचान बनाने वाली कंपनी शियोमी मार्केट में अपनी अच्छी जगह बना चुकी है, वहीं सैमसंग का वर्चस्व भी कम नहीं है। फिर भी एनालिस्ट रूशबाश दोषी का कहना है कि शियोमी अभी मिड रेंज यानि 15 हजार से 20 हजार तक के फोन मार्केट में लांच कर रही है। ऐसे में एक साल से भी कम में इसकी सेल बढऩे की आशंका ज्यादा है। ऐसा करते हुए हो सकता है कि शियोमी सैमसंग को भी पीछे छोड़ दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here